Home विदर्भ विद्या भारती कार्यालय का भव्य उद्घाटन

विद्या भारती कार्यालय का भव्य उद्घाटन

495
0

भारत केन्द्रित शिक्षण आवश्यक -डॉ. प्रा. राम देशमुख

अकोल्यात विद्या भारतीची सरस्वती शिशु वाटिका सुरू होणार

अकोला : स्वातंत्र्यापासून युरोप केंद्रित भारत उभा करण्याचे प्रयत्न करण्यात आले. विद्या भारतीला भारत केन्द्रित शिक्षण हवे आहे. त्यासाठी आपण विद्या भारतीचे कार्य समजून घ्यावे असे प्रतिपादन विदर्भ प्रांताध्यक्ष प्राचार्य राम देशमुख यांनी केले. अकोला जिल्हा कार्यालयाच्या उद्घाटन प्रसंगी अध्यक्ष स्थानावरून ते बोलत होते. विद्या भारतीच्या कार्याची माहिती विषाद करीतांना ते पुढे म्हणाले पालक संपर्क हा विद्या भारतीचा प्राण आहे. आपल्या देशाची एक अधिकृत भाषा नाही. आपल्या भारतातील भाषांमध्ये प्रत्येक भाषेला चार ते पाच पोट भाषा आहेत. इंग्रजी सत्तेला घालवण्यासाठी दीडशे वर्ष संघर्ष केला. त्यांना जाऊन 75 वर्ष झाली पण तरी या देशाला जर एकत्र करायचे असेल तर आपण इंग्रजी भाषा वापरत असल्याची खंत त्यांनी व्यक्त केली. लेडीज होम क्लास सोसायटी या संस्थेच्या अध्यक्षा पल्लवी कुलकर्णी यांनी आपल्या भाषणात मनुताई कन्याशाळेची 111 वर्षाची यशस्वी वाटचाल सुरू असल्याचे विशद करीत मनुताई कन्या शाळेत येणार्‍या सत्रापासून विद्या भारतीची सरस्वती शिशु वाटिका सुरू करीत असल्याची घोषणा केली.

संस्थेचे मार्गदर्शक व सनदी लेखापाल अनिरुद्ध चौधरी यांनी विद्या भारतीचे कार्य उत्तम असल्यामुळे संस्थेच्या वास्तुत विद्या भारती अकोला जिल्हा कार्यालय व सरस्वती शिशु वाटिका सुरू करण्याला परवानगी देत असल्याचे त्यांनी सांगितले. व्यासपीठावर विद्या भारती विदर्भचे अध्यक्ष राम देशमुख, संघटन मंत्री शैलेश जोशी, लेडीज होम क्लास सोसायटीच्या अध्यक्षा पल्लवी कुलकर्णी, सि.ए. अनिरुद्ध चौधरी, जिल्हा मंत्री शरद वाघ उपस्थित होते.

विद्या भारती कार्यालय का भव्य उद्घाटन

अकोला में शुरू होगी विद्या भारती की सरस्वती शिशु वाटिका

अकोला : आजादी के बाद से ही यूरोप केंद्रित भारत के निर्माण के प्रयास किए गए. विद्या भारती भारत केंद्रित शिक्षा चाहती हैं। विदर्भ के प्रांतीय अध्यक्ष प्राचार्य राम देशमुख ने जोर देकर कहा कि हमें विद्या भारती के काम को समझना चाहिए। वे अध्यक्ष पद से अकोला जिला कार्यालय के उद्घाटन अवसर पर बोल रहे थे. उन्होंने विद्या भारती के कार्यों की जानकारी देते हुए आगे कहा कि माता-पिता का संपर्क विद्या भारती की जीवनदायिनी है। हमारे देश की कोई आधिकारिक भाषा नहीं है। हमारे भारत की भाषाओं में प्रत्येक भाषा की चार-पाँच उप-भाषाएँ होती हैं। अंग्रेजी सत्ता को उखाड़ फेंकने के लिए 150 वर्षों तक संघर्ष किया। उन्हें गए हुए 75 साल हो गए, लेकिन उन्हें इस बात का अफसोस था कि अगर हम इस देश को एक करना चाहते हैं तो हम अंग्रेजी भाषा का इस्तेमाल कर रहे हैं। लेडीज होम क्लास सोसाइटी की अध्यक्ष पल्लवी कुलकर्णी ने अपने उद्बोधन में मनुताई बालिका विद्यालय के 111 वर्षों की सफल प्रगति के बारे में बताया और घोषणा की कि मनुताई बालिका विद्यालय के आगामी सत्र से विद्या भारती की सरस्वती शिशु वाटिका शुरू की जाएगी।

संस्थान के गाइड एवं चार्टर्ड एकाउंटेंट अनिरुद्ध चौधरी ने बताया कि विद्या भारती का कार्य अच्छा होने के कारण संस्थान परिसर में विद्या भारती अकोला जिला कार्यालय एवं सरस्वती शिशु वाटिका प्रारंभ करने की अनुमति दे रहे हैं। विद्या भारती विदर्भ के अध्यक्ष राम देशमुख, केंद्रीय मंत्री शैलेश जोशी, लेडीज होम क्लास सोसाइटी की अध्यक्ष पल्लवी कुलकर्णी, सी.ए. अनिरुद्ध चौधरी, जिला मंत्री शरद वाघ मौजूद रहे।

और पढ़ें : समूह गान स्पर्धा संपन्न

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here