Home तेलंगाना दो लाख विद्यार्थियों से सेवा कार्यक्रम का संकल्प

दो लाख विद्यार्थियों से सेवा कार्यक्रम का संकल्प

884
4
“Seva Karyakram ka Sankalp” with Two Lakh Students

श्री सरस्वती विद्या पीठम के स्वर्णिम जयंती अवसर को लेकर हैदराबाद के बंडला गुड़ा रदा धामम में आयोजित पूर्व विद्यार्थी सम्मेलन -दो लाख विद्यार्थियों को सेवा कार्यक्रम से जोड़ने का संकल्प

हैदराबाद | दो लाख से भी अधिक संख्या में ” सरस्वती शिशु मंदिर” के पूर्व विद्यार्थियों को सामाजिक सेवा कार्यक्रमों में भाग लेने हेतु प्रशिक्षण देने का संकल्प विद्या भारती ने लुया है” यह विषय विद्याभारती के दक्षिण मध्य क्षेत्र अध्यक्ष श्री उमा महेश्वर राव ने कही। आगे उन्होंने कहा कि “समकालीन समाज की स्थितियों को ध्यान में रख कर विद्यार्थीयों को एक सुचारू बदलाव की सृष्टि करने वाले के रूप में बदलने का प्रयास और प्रणाली का संयोजन विद्या भारती कर रही है”।

श्री सरस्वती विद्या पीठम के स्वर्णिम जयंती अवसर को लेकर हैदराबाद के बंडला गुड़ा स्थित “शारदा धामम” में आयोजित पूर्व विद्यार्थी सम्मेलन का संबोधन वे मुख्य अतिथि के रूप में कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भारतीय राष्ट्रीय सांस्कृतिक संपदा का ह्रास होने से रोकने हेतु पूर्व विद्यार्थी कार्यरत होना आवश्यक है ।

विद्या भारती के दक्षिण मध्य क्षेत्र संगठन मंत्री श्री लिंगम सुधाकर रेड्डी विद्यार्थयों को संबोधित करते हुए कहा कि “शिशु मंदिर अपने विद्यार्थीयों को संस्कार तथा मूल्यों पर आधारित शिक्षा प्रदान करती है, ये संस्कार आगे राष्ट्रीय भावना का नीव बनते है।”। आगे बोलते हुए उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता के पश्चात अब तक शिक्षा क्षेत्र का भारी नुकसान हुआ है, अब इसे सही दिशा देने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि शिशु मंदिर की शिक्षा व्यवस्था पर जो जहरीला प्रचार चल रहा है उसे सिरे से खारिज करना आवश्यक है।

पूर्व विद्यार्थी परिषद के महामंत्री श्री बोड्डू श्रीनिवास ने “वार्षिक विवरण” प्रस्तुतव किया। उन्होंने कहा कि “अपनी-अपनी पूर्व पाठ शालाओं का आधुनकिकरण हेतु हर संभव स्रोतों का उपयोग लाने का प्रयास पूर्व विद्यार्थीयों किया है। तेलंगाना के राज्यभर से आए पूर्व विद्यार्थीयों के इस कार्यक्रम में मणिपाल यूनिवर्सिटी के चांसलर प्रोफेसर श्री तिरुपति राव ने विशेष अतिथि के रूप में भाग लिए तथा विद्याभारती प्रांत संगठन मंत्री श्री पतक मूरी श्रीनिवास राव, क्षेत्र सेवा प्रमुख श्री कुल्लूर विद्वान रेड्डी, क्षेत्र प्रशिक्षण प्रमुख श्री रावुला सूर्य नारायण, विद्याभारती उच्च शिक्षा संस्थान श्री मुरली मनोहर, पूर्व विद्यार्थी परिषद अध्यक्ष श्री हरी स्मरण रेड्डी, इत्यादि ने भाग लिया। शिशु मंदिर के विद्यार्थीयों द्वारा आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रमें ने सब का मन मोह लिया। सम्मेलन में “भविष्य में आयोजित होने वाले कार्यक्रमों पर भी चर्चा हुई”।

और पढ़ें : सेवा क्षेत्र की शिक्षा की अखिल भारतीय बैठक

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here