Home उड़ीसा कटक में राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन

कटक में राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन

287
0
National Seminar SVM Gatiroutpatna Cuttack
National Seminar SVM Gatiroutpatna Cuttack

सरस्वती विद्या मंदिर, गतीरौटपटना, कटक में राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन

तेजी से क्रियान्वयन में निहित है राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 की सफलता

कटक । राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 और छात्र विकास के लिए समग्र मूल्यांकन पर 14वीं राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन 20-21 नवंबर, 2022 को सरस्वती विद्या मंदिर, गतीरौटपटना, कटक में किया गया। संगोष्ठी में वक्ताओं ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति- 2020 ने भारतीय शिक्षा प्रणाली का चेहरा बदल दिया है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति ने शिक्षार्थियों के मूल्यांकन के लिए विद्यालय आधारित मूल्यांकन की सिफारिश की है। एनईपी की सफलता इसके तेजी से क्रियान्वयन में निहित है। प्रो. डॉ. पी.सी. अग्रवाल प्रिंसिपल आरआईई ने समग्र मूल्यांकन के विविध आयामों की व्याख्या करते हुए स्कूल आधारित मूल्यांकन सीसीई, 360 डिग्री प्रगति कार्ड आदि पर प्रकाश डाला। उन्होंने योगात्मक से रचनात्मक, सामग्री से योग्यता आधारित और निम्न से उच्च स्तर की समग्र मूल्यांकन की कौशल विकास प्रक्रिया में बदलाव पर चर्चा की। एनईपी की सफलता इसके तेजी से क्रियान्वयन में निहित है। डॉ. किशनवीर सिंह शाक्य पूर्व सदस्य यूपीपीएससी प्रयागराज और मंत्री विद्या भारती ने कहा कि मूल्यांकन में ज्ञान, कौशल, दृष्टिकोण, चरित्र शामिल है।

डॉ. बीके पांडा, निदेशक, शास्त्रीय ओडिया शिक्षा मंत्रालय ने रचनात्मक, सहयोगी और महत्वपूर्ण कौशल को बढ़ाने के लिए रणनीतियों के संदर्भ में शिक्षा और मूल्यांकन प्रक्रिया में आध्यात्मिक इकाई को जोड़ा। डॉ. के.सी. मोहंती अध्यक्ष शिक्षा विकास समिति, उड़ीसा ने 12 समग्र मूल्यांकन रूप पर विशेष बल देते हुए बहुआयामी मूल्यांकन की नीति की सराहना की। संगोष्ठी में उत्कल विश्वविद्यालय, खलीकोट विश्वविद्यालय, रमादेवी विश्वविद्यालय, आरआईई, एफ.एम. विश्वविद्यालय, रेनशॉ विश्वविद्यालय, एस.बी. महिला कॉलेज, ओडिशा के उच्च शिक्षा संस्थान सीटीईएस और विभिन्न सरस्वती विद्या मंदिरों के आचार्य मौजूद रहे। दो दिवसीय संगोष्ठी में 51 शोधपत्र प्रस्तुत किए गए।

संगोष्ठी में प्रफुल्ल कुमार मोहंती वीसी खलीकोट एकात्मक विश्वविद्यालय, प्रो. एच.के. सेनापति एनसीईआरटी, नई दिल्ली के पूर्व निदेशक, डॉ. एस.के. हाटी, सचिव विद्या भारती पूर्व क्षेत्र, रमाकांत मोहंता, आयोजन सचिव, एसवीएस ओडिशा, डॉ. लतिका मिश्रा, सहायक निदेशक इग्नू, डॉ. सिद्धनाथ साहू, तारुलता देवी संयुक्त सचिव एसवीएस, ओडिशा आदि विशेष उपस्थित रहे।

और पढ़ें :कक्षा-कक्ष  में राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर सम्पन्न हुआ प्रशिक्षण

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here